तेलंगाना में कई ठिकानों पर NIA का छापा! 3

राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने बुधवार को आंध्र प्रदेश और तेलंगाना के कई आदिवासी, दलित और मानवाधिकार कार्यकर्ताओं के ठिकानों पर छापेमारी की।

पत्रिका पर छपी खबर के अनुसार, इनके माओवादियों के साथ संबंध बताए जा रहे हैं।

देर रात तक यहां छापेमारी की गई। छापेमारी में चिलिका चंद्रशेखर (आंध्र प्रदेश सिविल लिबर्टीज कमेटी के महासचिव), हैदराबाद के एक वरिष्ठ वकील और मानवाधिकार कार्यों से जुड़े संगठन शामिल हैं।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार केंद्रीय आतंकवाद-रोधी जांच एजेंसी ने कम से कम 64 लोगों के ठिकानों पर रेड की है। ज्यादातर ये कार्यकर्ता है और पत्रकार है जो माओवादी गतिविधियों में शामिल बताए जा रहे हैं।

भीमा-कोरेगांव जांच के बाद कार्यकर्ताओं के खिलाफ एनआईए का यह दूसरा मामला है।

इसमें सुधा भारद्वाज, आनंद तेलतुंबडे, प्रोफेसर हनी बाबू एमटी, फादर स्टेन स्वामी जैसे कई कार्यकर्ताओं को कथित रूप से माओवादियों के नेटवर्क का हिस्सा बनने के लिए पहले ही गिरफ्तार किया जा चुका है।

एनआईए की रिपोर्ट में दर्ज प्रमुख कार्यकर्ता में- चिलिका चंद्रशेखर, वीएस कृष्णा, तेलंगाना और आंध्र प्रदेश के लिए मानवाधिकार मंच (एचआरएफ) समन्वयक हैं, जो आंध्र के नक्सल विरोधी बल के खिलाफ बोल रहे हैं।

11 आदिवासी महिलाओं के साथ बलात्कार में मुखर रही कार्यकर्ता दद्दू प्रभाकर भी शामिल हैं।

This is unedited, unformatted feed from hindi.siasat.com – Visit Siasat for more