National News

तब्लीगी जमात और मुसलमानों को बदनाम करने वाले लोग गिरफ्तार

अहमदाबाद:हिन्दोस्तान में कोरोना वाइरस की दहश्त के दरमयान निज़ामउद्दीन वाक़्य तब्लीग़ी जमात मर्कज़ को ग़लत तरीक़े से लोग हदफ़ तन्क़ीद बना रहे हैं और सोशल मीडीया पर तो तब्लीग़ी जमात के ख़िलाफ़ नफ़रतअंगेज़ मुहिम का जैसे सेलाब आ चुका है। इसी सिलसिले में गुजरात पुलिस ने सात लोगों को गिरफ़्तार किया है। ये सभी ना सिर्फ तब्लीग़ी जमात के ख़िलाफ़ नफ़रत फैला रहे थे बल्कि लोगों से ये अपील भी कर रहे थे कि वो अक़ल्लीयती तबक़ा (मुस्लमानों का बाईकॉट करें

मीडीया ज़राए के मुताबिक़ गिरफ़्तार अफ़राद के ख़िलाफ़ ताज़ीरात-ए-हिंद की दफ़ा505 के तहत केस दर्ज किया गया है और उन सातों के इलावा भी तीन लोगों पर केस दर्ज हुआ है लेकिन फ़िलहाल उनकी गिरफ़्तारी अमल में नहीं आई है। बताया जाता है कि गिरफ़्तार सात अफ़राद गुजरात के नवसारी, जामनगर, अमरेली, आनंद और कुछ ज़िला से ताल्लुक़ रखते हैं। पुलिस के मुताबिक़ गिरफ़्तार अश्ख़ास के नाम रीकीन संघो 27 साल), ओमा कांत राठौड़ 50 साल), रत्ती लाल पटेल 70 साल), पर्स वाला 39 साल), जयंती गिरी 51 साल), नीरू बारवा डी 30 साल और हरीश 42) हैं

रीकीन संघो का ताल्लुक़ अमरेली से है और वो एक प्राईवेट कंपनी में काम करता है। इस के बारे में अमरेली के पुलिस सपरंटंडनत नय्यर लिप्त राय का कहना है कि “मुल्ज़िम अवाम को गुमराह करने के लिए ताज़ीरात-ए-हिंद की दफ़ा505 के तहत गिरफ़्तार किया गया है। इस पर डीज़ासटर मैनिजमंट ऐक्ट भी लगा है। नवसारी के रहने वाले ओमा कांत राठौड़ और रत्ती लाल पटेल के बारे में पुलिस का कहना है कि दोनों ने मुख़्तलिफ़ व्हाट्स उप ग्रुप पर नफ़रतअंगेज़ पैग़ामात शेयर किए थे। नवसारी के डिप्टी पुलिस सपरंटंडनट एसजी राना ने बताया कि “ओमा कांत हीरा तराशने का काम करता है जब कि रत्ती लाल बेरोज़गार है। दोनों को बरोज़ जुमा ज़मानत पर छोड़ा गया है।

दीगर गिरफ़्तार अश्ख़ास में पर्स वाला ड्राईवर है जब कि जयंती गिरी एक बिज़नस मैन है। इन दोनों का ताल्लुक़ जामनगर से है। आनंद का रहने वाला नीरू बरवाडी एक प्राईवेट कंपनी में मुलाज़िम है और हरीश कुछ का रिहायशी है

काबिल-ए-ज़िक्र है कि गुज़श्ता जुमेरात को ही अहमदाबाद पुलिस की स्पैशल ब्रांच ने एक ख़त शहर के सभी पुलिस स्टेशन को लिखा था जिसमें तब्लीग़ी जमात से मुताल्लिक़ व्हाट्स एप्प पर गशत कर रहे नफ़रत भरे पैग़ामात पर कार्रवाई करने की हिदायत दी थी। पुलिस से कहा गया था कि किसी भी नाख़ुशगवार वाक़िया से बचने के लिए हर तरह के ज़रूरी इक़दामात किए जाएं.

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: