मुंबई, द। 5: कोरोना पर काबू पाना और अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाना ये दोनों बातें ही वर्तमान में राज्य के सामने प्रमुख चुनौतियां हैं। उप मुख्यमंत्री अजीत पवार ने विश्वास व्यक्त करते हुए कहा कि अगर नागरिकों ने कुछ और दिन घर में रह कर कोरोना के प्रसार को रोक दिया तो हम इन चुनौतियों पर जल्दी से जल्दी जीत हांसिल कर सकते हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा रात 9 बजे दीपक जलाने के लिए किए गए आह्वान का पालन करते समय कोई भी घर से बाहर न जाए, सड़कों पर आएं, भीड़ से बचें, उप-मुख्यमंत्री ने ऐसा आवाहन किया है।

राज्य में कोरोना मरीजों की संख्या साड़े छ: सौ तक पहुंच गयी है , इस बढ़ती हुई संख्या को रोकना, प्रतिदिन होने वाली मृत्यु संख्या को रोकना, स्वास्थ्य, पुलिस, अन्य व्यवस्था पर तनाव को कम करना और लॉकडाउन के चलते ठप्प हो चुकी अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाना , ये हम सबके सामने मुख्य चुनौतियाँ हैं ।

इन चुनौतियों से जल्द से जल्द निपटने के लिए नागरिकों को धैर्य और अनुशासन का पालन करना होगा। कोरोना का प्रकोप गाँव, बस्ती , सोसायटी तक फैल गया है। यह आपका कर्तव्य है कि आप उसे अपने घर में न लाएँ ताकि स्वयं को , परिवार को संक्रमित होने से बचाया जा सके। उप-मुख्यमंत्री ने विश्वास व्यक्त किया कि आपने अगर कुछ और दिन संयम का पालन किया और घर से बाहर जाने से बचे तो कोरोना निश्चित रूप से नियंत्रण में आ सकेगा।

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने रात 9 बजे दरवाजों और खिड़कियों पर दीपक जलाने का आह्वान किया है। राज्य के नागरिकों को इस आह्वान का पालन करते समय घर से बाहर नहीं जाना है। सड़कों पर भीड़-भाड़ करने से बचें। मौजूदा समय में, हाथों को सैनिटाइज़र द्वारा साफ किया जाता है , ऐसे में जलते दीपक के पास हाथ ले जाने पर दुर्घटना हो सकती है। उप-मुख्यमंत्री ने इस बारे में लोगों को सावधान रहने के लिए कहा। राज्य के स्वास्थ्य, पुलिस, खाद्य और नागरिक आपूर्ति और सभी सरकारी विभागों के अधिकारी, कर्मचारी निष्ठापूर्वक कार्य कर रहे हैं । उप-मुख्यमंत्री ने आह्वान किया कि सभी नागरिक इनके साथ सहयोग करें।