International News In Hindi

कोरोना वायरस: ऑस्ट्रेलिया ने शुरू किया संभावित वैक्सीन का परीक्षण

ऑस्ट्रेलिया के वैज्ञानिक दो संभावित कोरोना वायरस के वैक्सीन को लेकर टेस्ट शुरू कर चुके हैं.विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार, ऑक्सफ़ोर्ड यूनिवर्सिटी और अमरीकी कंपनी इनोविओ फ़ार्मास्युटिकल्स के बनाए वैक्सीन का जानवरों पर सफल परीक्षण किया जा चुका है.अगर ये वैक्सीन इंसानों पर परीक्षण में सफल पाए जाते हैं तो ऑस्ट्रेलिया की साइंस एजेंसी इसका आगे मूल्यांकन करेगी.

पिछले महीने अमरीका में पहली बार इंसानों पर वैक्सीन का परीक्षण किया जा चुका है लेकिन उस वक़्त जानवरों पर परीक्षण करने वाला चरण छोड़ दिया गया था.

पूरी दुनिया में कोरोना वायरस के वैक्सीन पर तेज़ी से काम चल रहा है. लेकिन ऑस्ट्रेलिया के कॉमनवेल्थ साइंटिफ़िक एंड इंडस्ट्रियल रिसर्च ऑर्गेनाइज़ेशन (सीएसआईआरओ) का कहना है कि यह परीक्षण पहला पूरी तरह से जानवरों पर आज़माया गया प्री-क्लिनिकल ट्रायल होगा.

शोधकर्ताओं ने कहा है कि पूरी दुनिया से मिलने वाला सहयोग शानदार है जिसकी वजह से इस चरण तक हम इतनी तेज़ी से पहुँच पाए हैं.

सीएसआईआरओ के डॉक्टर रॉब ग्रेनफ़ेल का कहना है, “आमतौर पर इस स्टेज तक पहुँचने में एक से दो साल तक का वक़्त लगता है. लेकिन हम सिर्फ़ दो महीने में यहां तक पहुँच गए हैं.”

कैसे काम करता है ये वैक्सीन

पिछले कुछ दिनों में सीएसआईआरओ की टीम ने इस वैक्सीन को गंधबिलाव (नेवले की जाति का एक जानवर) पर टेस्ट किया है. यह साबित हो चुका है कि गंधबिलाव में इंसानों की तरह ही कोरोना वायरस का संक्रमण होता है.

वास्तव में सार्स कोवि-2 वायरस कोरोना संक्रमण के लिए ज़िम्मेवार होता है.

पूरी दुनिया में कम से कम 20 वैक्सीन पर अभी काम चल रहा है.सीएसआईआरओ की टीम दो वैक्सीन पर काम कर रही है.पहला वेक्टर वैक्सीन ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी की ओर से विकसित किया गया है. इसमें कोरोना वायरस के प्रोटीन को इम्युन सिस्टम में डालने के लिए ‘डिफ़ेक्टिव’ वायरस का इस्तेमाल किया जाता है और फिर इससे होने वाले प्रभावों परीक्षण किया जाता है.

♨️Join Our Whatsapp 🪀 Group For Latest News on WhatsApp 🪀 ➡️Click here to Join♨️

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
%d bloggers like this: