दिल्ली:साढ़े सात साल बाद निर्भया के चारों दोषियों को शुक्रवार सुबह 5:30 बजे दिल्ली की तिहाड़ जेल में फांसी लगने जा रही है। मिलिए अवनींद्र से, जो इस मामले में इकलौते चश्मदीद गवाह थे, जिनकी वजह से सुप्रीम कोर्ट ने भी सजा सुनाई और अब दोषियों को फांसी दी जा रही है।

मूलरूप से यूपी के गोरखपुर के रहने वाले चश्मदीद गवाह अवनींद्र 16 दिसंबर, 2012 की रात निर्भया के साथ थे, जब यह पूरी घटना हुई। गवाही में अवनींद्र ने सभी दोषियों को पहचाना था, जिन्होंने न केवल निर्भया के साथ दरिंदगी की थी, बल्कि अवनींद्र को भी बुरी तरह पीटा था।

अवनींद्र की गवाही को निचली अदालत के बाद दिल्ली हाई कोर्ट और फिर अंत में सुप्रीम कोर्ट ने भी सही माना था और तीनों ही कोर्ट ने चारों दोषयों विनय कुमार शर्मा, पवन कुमार गुप्ता, मुकेश सिंह और अक्षय कुमार सिंह को फांसी की सजा सुनाई थी।