#GST #Mobile #Price . #Infosys ने जुलाई तक जी एसटी उन के डिज़ाइन में बेहतरी लाने की बात की थी

GST (जी एस टी) कौंसल ने हफ़्ता को मोबाइल फ़ोन महंगा होने का इमकान ज़ाहिर किया है , यक्म अप्रैल से मोबाइल फ़ोनज़ और मख़सूस हिस्सों की शरह को मौजूदा12 फ़ीसद से बढ़ा कर18 फ़ीसद करने का फ़ैसला किया गया है
मर्कज़ी वज़ीर-ए-ख़ज़ाना निर्मला सीतारामन ने कहा कि ये फ़ैसला क़ीमतों में इज़ाफ़ा नहीं बल्कि कुछ मसनूआत पर डयूटी के रीवरस ढाँचे को दरुस्त करने के लिए लिया गया है जिसमें ख़रीदारी पर टैक्स की अदायगी की शरह बैरूनी रसदों पर तैयार मसनूआत पर टैक्स की शरह से ज़्यादा है
वज़ीर ने कहा , “रीवरस टैक्स ढाँचे के मसले को देखने के लिए फ़िटनैस कमेटी की जानिब से एक परीज़नटीशन पेश की गई थी।
इंडिया सेलूलर ऐंड इलेक्ट्रॉनिक्स एसोसीएशन के चेयरमैन पंकज महिन्द्रो ने कहा कि जी एसटी में6 फ़ीसद इज़ाफे़ का इक़दाम डीजीटल इंडिया के वज़न के लिए नुक़्सानदेह होगा। उन्होंने कहा , “कारोबार इस्तिहकाम का शिकार हो जाएगीगा और2025 तक हमारे घरेलू इस्तिमाल का6 लाख करोड़ का कम अज़ कम हदफ़2 लाख करोड़ से कम हो जाएगीगा
इस हफ़्ते के शुरू में वज़ीर-ए-ख़ज़ाना को लिखे गए ख़त में , मिस्टर महिन्द्रो ने कहा कि अजज़ा और आदानों पर जी एसटी को माक़ूल बनाने के बजाय , हतमी मसनू पर शरह बढ़ाने का “बेज़ार इक़दाम भी सारिफ़ीन के मुफ़ाद में नहीं था.