National News

सऊदी अरब में शहज़ादों ने करी तख्ता पलटने की कोशिस,जानिए पूरी खबर

नई दिल्ली: सऊदी अरब के दो शहज़ादों समेत तीन सदस्यों को हिरासत में ले लिया गया है,जिन पर देशद्रोह और सरकार का तख्ता पलट करने की साजिश रचने का आरोप लगाया गया है, सऊदी राजकुमारों के खिलाफ इस कार्रवाई को क्राउन प्रिंस मुहम्मद बिन सलमान की सत्ता पर बढ़ती पकड़ के तौर पर देखा जा रहा है।

इसके अलावा इन गिरफ्तारियों को सऊदी अरब में शाही परिवार के अन्य सदस्यों के लिए चेतावनी की तरह देखा जा रहा है। बताया जा रहा है कि क्राउन प्रिंस मुहम्मद बिन सलमान का समर्थन नहीं करने के कारण ये गिरफ्तारियां हुईं हैं। इसको सऊदी अरब के शाही परिवार में सत्‍ता को लेकर संघर्ष के तौर पर भी देखा जा रहा है।

क्राउन प्रिंस किंग सलमान के बेटे हैं और माना जाता है कि उनके समर्थन से ही वह सत्ता पर अपनी पकड़ मजबूत कर रहे हैं। अमेरिकी अखबार वाल स्ट्रीट जर्नल ने सबसे पहले इन गिरफ्तारियों की खबर दी थी। अखबार में शाही परिवार के एक करीबी के हवाले से बताया गया कि किंग सलमान के छोटे भाई प्रिंस अहमद बिन अब्दुलअजीज अल-सऊद और उनके भतीजे प्रिंस मुहम्मद बिन नायेफ को शुक्रवार तड़के उनके घरों से गिरफ्तार कर लिया गया। उनके बर्ताव ने नेतृत्व को नाराज कर दिया था।

दोनों वरिष्ठ प्रिंस पूर्व में गृहमंत्री और सुरक्षा जैसी अहम जिम्मेदारियों का निर्वहन कर चुके हैं। प्रिंस नायेफ के छोटे भाई प्रिंस नवाफ बिन नायेफ को भी हिरासत में लिया गया है। शाही कोर्ट से जुड़े एक अन्य व्यक्ति ने बताया कि किंग के बेटे ने मध्य 2017 में 60 वर्षीय प्रिंस मुहम्मद बिन नायेफ को उनके पद से हटा दिया था। तभी से उन पर नजर रखी जा रही थी। 78 साल के प्रिंस अहमद की गिरफ्तारी अप्रत्याशित मानी जा रही है क्योंकि वह किंग के छोटे भाई होने के साथ ही सत्तारूढ़ अल सऊद परिवार के वरिष्ठ सदस्य भी हैं। लेकिन उन्हें 34 वर्षीय क्राउन प्रिंस का विरोधी माना जाता है।

अमेरिकी अखबार वाल स्ट्रीट जर्नल ने सूत्रों के हवाले से बताया गया था कि देशद्रोह का आरोप लगने के बाद किंग सलमान के भाई प्रिंस अहमद बिन अब्दुलअजीज अल-सउद और भतीजे प्रिंस मुहम्मद बिन नायेफ को उनके घरों से शुक्रवार तड़के हिरासत में लिया गया। न्यूयॉर्क टाइम्स अखबार ने भी यह जानकारी दी और बताया कि प्रिंस नायेफ के छोटे भाई प्रिंस नवाफ बिन नायेफ को भी पकड़ लिया गया है। इस कार्रवाई पर सऊदी अधिकारियों की ओर से अभी तक कोई भी प्रतिक्रिया नहीं आई है।

क्राउन प्रिंस मुहम्मद बिन सलमान को सत्ता की बागडोर मिलने के बाद सऊदी में कई आलोचकों, मानवाधिकार कार्यकर्ताओं और कारोबारियों को गिरफ्तार किया जा चुका है। तीन प्रिंस को हिरासत में लिए जाने की कार्रवाई को भी इसी का हिस्सा माना जा रहा है। किंग सलमान के पुत्र और क्राउन प्रिंस मुहम्मद को अपने मुखर विरोधी पत्रकार जमाल खशोगी की हत्या को लेकर वैश्विक स्तर पर आलोचना का सामना करना पड़ा था। खशोगी की अक्टूबर 2018 में इस्तांबुल स्थित सऊदी अरब के दूतावास में हत्या कर दी गई थी।

This post appeared first on The Inquilaab http://theinquilaab.com/ POST LINK Source Syndicated Feed from The Inquilaab http://theinquilaab.com Source

♨️Join Our Whatsapp 🪀 Group For Latest News on WhatsApp 🪀 ➡️Click here to Join♨️

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
%d bloggers like this: