Hindi Articles National News

वज़ीर-ए-आज़म मोदी के हाथों मिलने वाला एज़ाज़ बच्ची ने ठुकरा दिया।कौन है ये बच्ची जानिए ?

Thanks, but no thanks: 8-year-old environment activist rejects Modi govt #SheInspiresUs honour

प्यारे नरेंद्र मोदी जी। अगर आप मेरी आवाज़ नहीं सुनेंगे तो प्लीज़ मुझे सलेबरेट मत कीजीए। मुतास्सिर कुन ख़वातीन के बारे में आपके क़दम SheInspiresUs #  के तहत मुझे उन ख़वातीन में शामिल करने का शुक्रिया। कई बार ग़ौर करने के बाद मैंने ये एज़ाज़ ठुकराने का फ़ैसला किया है।’वज़ीरा अज़म नरेंद्र मोदी की जानिब से दिए जानेवाले इस एज़ाज़ को ठुकराने वाली आठ साला बच्ची का नाम लस्सी प्रिया कुंजुम है

लस्सी प्रिया कुंजुम का ताल्लुक़ इंडिया की शुमाल मशरिक़ी रियासत मनी पूर से है। वो माहौलियाती तबदीली के ख़िलाफ़ आवाज़ बुलंद करने में बढ़ चढ़ कर हिस्सा लेती हैं।उन्हें सन2019 मैं बच्चों के आलमी अमन के इनाम ने नवाज़ा गया था

इंडियन हुकूमत की जानिब से8 मार्च यानी इंटरनैशनल वीमेंस डे के मौक़ा पर ऐसी ख़वातीन का ज़िक्र किया जा रहा है जो को मुख़्तलिफ़ शोबों में ग़ैरमामूली किरदार अदा कर रही हैं

इसी सिलसिले मेंmygovindiaटविटर हैंडल से ट्वीट किया गया कि ‘लस्सी प्रिया कुंजुम एक माहौलियाती उमूर की कारकुन हैं। साल2019 मैं उन्हें डाक्टर ए पी जे अबद इल्ल कलाम चिल्ड्रेन ऐवार्ड, आलमी अमन का इनाम और इंडिया के अमन के इनाम से नवाज़ा गया। क्या आप उनके जैसी किसी को जानती हैं?SheInspiresUs हैशटैग के साथ हमें बताईए।

इंडियन हुकूमत की इस टोयट के जवाब में लस्सी प्रिया ने शुक्रिया अदा करने के साथ ही ये भी कहा कि वो ये एज़ाज़ क़बूल नहीं कर सकती हैं।उन्होंने इस बारे में लगातार कई टोयट्स कीं

उन्होंने लिखा कि ‘प्यारे रहनुमाओं और सयासी जमातों, मुझे उस के लिए तारीफ़ नहीं चाहिए। इस के बजाय अपने अराकीन पार्लीमान से कहीए कि पार्लीमान में मेरी आवाज़ उठाएं। मुझे अपने सयासी मुफ़ाद और प्रोपगेंडा के लिए कभी इस्तिमाल मत कीजीएगा। मैं आपके हक़ में नहीं हूँ।

लस्सी प्रिया के ऐसे सख़्त रवैय्ये पर सोशल मीडीया पर मुख़्तलिफ़ रद्द-ए-अमल सामने आ रहा है। चंद अफ़राद उनके बोल्ड जवाब के लिए उनकी तारीफ़ कर रहे हैं तो चंद का कहना है कि उन्हें गुमराह किया गया है

कुछ लोग इस बारे में भी सवाल कर रहे हैं कि ये टोयट क्या वाक़ई उन्होंने ही की हैं? क्यों कि जो बातें लिखी गई हैं, लस्सी प्रिया की उम्र इस एतबार से बहुत कम है।लस्सी प्रिया के एकाऊंट पर वाज़िह तौर पर लिखा है कि उनका एकाऊंट उनके सरपरस्त चलाते हैं

कुछ लोग लस्सी प्रिया को ये कहते हुए ट्रोल कर है हैं कि उन्होंने इंडियन हुकूमत की जानिब से मिलने वाले एज़ाज़ की तौहीन की है

सोशल मीडीया पर जारी बेहस के दरमयान लस्सी प्रिया ने चंद घंटे क़बल एक और टोयट की।उन्होंने लिखा, ‘प्यारे भाईयों, बहनों, मैडम। मुझ पर आवाज़ कसना और अपना प्रोपगेंडा चलाना बंद कीजीए। मैं किसी के ख़िलाफ़ नहीं हूँ। मैं सिस्टम में तबदीली चाहती हूँ, माहौलियात में नहीं। मैं किसी से उम्मीद नहीं रखती। मैं सिर्फ ये चाहती हूँ कि हमारे रहनुमा मेरी आवाज़ सुनें । मुझे यक़ीन है कि मेरी जानिब से इनाम क़बूल ना किया जाना मेरी आवाज़ सुने जाने में मेरी मदद करेगा

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: