MAHARASHTRA HINDI NEWS

मोदी के राज में हिंदू ही नहीं, हिंदूओं के भगवान भी ख़तरे में हैं : सचिन सावंत

मुंबई बी जे पी वास की नज़रियात की हामिल तंज़ीमें मुल्क में पूलरायज़ीशन की अपनी मोदी के राज में हिंदू ही नहीं, हिंदूओं के भगवान भी ख़तरे में हैं.

गंदी सियासत के लिए हिंदूओं के ख़तरे में होने का मातम करती रहती हैं, जबकि सच्चाई ये है कि मोदी राज में वाक़ातन हिंदू ख़तरे में आगए हैं। मलिक के बैंकों में जमा रक़म मलिक के अक्सरीयती हिंदूओं की है जो अब बिलकुल भी महफ़ूज़ नहीं रह गया है और इस की वजह से कई ख़ानदान तबाह हो गए हैं। इस की रास्त ज़िम्मेदारी मोदी हुकूमत पर ही आइद होती है। मोदी हुकूमत पर ये सख़्त तन्क़ीद आज यहां महाराष्ट्र प्रदेश कांग्रेस कमेटी के जनरल सैक्रेटरी वितरजमान सचिन सावंत ने की है। वो यहां पार्टी दफ़्तर में मीडीया के नुमाइंदों से ख़िताब कर रहे थे

उन्होंने कहा कि यस बैंक पर रिज़र्व बैंक ने पाबंदी आइद कर दी है जिसकी वजह से इस बैंक में जिन लोगों के पैसे जमा हैं, वो नहीं निकाल पारहे हैं। बैंक के बाहर लोगों की तवील क़तारें लगी हुई हैं। इस से क़बल पंजाब ऐंड महाराष्ट्र बैंक में बदउनवानी की वजह से लोगोंकी ज़िंदगी-भर की कमाई डूब गई। ख़ुद का पैसा डूब जाने के सदमे से कई लोगों की मौत वाक़्य हो गई थी।नोट बंदी की वजह से करोड़ों लोग सड़कों पर आगेए और तक़रीबन150लोगों को अपनी जानें गँवानी पढ़ें, उनमें भी अक्सरीयत हिंदूओं की थी। मुल्क में बेरोज़गारी वफ़सलों की तबाही के सबब ख़ुदकुशी करने वाले नौजवानों विकसानों में भी अक्सरीयत हिंदूओं की है। अब वही सूरत-ए-हाल एक-बार फिर यस बैंक में पैसा जमा करने वालों पर भी आगई है।इस बैंक में पैसा जमा करने वाले ज़्यादा तर हिंदूव ही हैं।इस में जमा लोगों के पैसों पर तो मुसीबत आई ही लेकिन इस मुसीबत ने हिंदूओं के भगवानों को भी नहीं बख़्शा है। पूरी के जगन नाथ मंदिर का मुख़्तलिफ़ बैंकों में545 करोड़ रोपीए जमा था जो एक महीना क़बल ही दीगर तमाम बैंकों से निकाल कर उसी यस बैंक में जमा किया गया था। अब वो पैसा भी अब डूबने वाले पैसों में शुमार हो गया है। इस से भगवान जगन नाथ भी ख़तरे में आगेए हैं

सचिन सावंत ने मज़ीद कहा कि नीरू मोदी, मेहोल चौकसी, वजेए माल्या जैसे लोग बैंकों के करोड़ों रोपीए लौट कर फ़रार होगीए। वो पैसा भी इस मलिक के अक्सरीयती हिंदूओं का ही है। इसी यस बैंक में18238मुलाज़मीन हैं जिसमें तक़रीबन तमाम ही हिंदू हैं और उनकी मुलाज़मत ख़तरे में आगई है। इन तमाम की ज़िम्मेदार मोदी हुकूमत ही है जिसके नाकारा पन का ख़मयाज़ा हिंदूओं को भुगतना पड़ रहा है। मोदी हुकूमत की नाएहलियों की सज़ा मलिक के अक्सरीयती हिंदूओं को भुगतना पड़ रहा है और कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है। इस भयानक सच्चाई के बावजूद हिंदूओं को किसी और से नहीं बल्कि ख़ुद मोदी हुकूमत से ही ख़तरा है। इस की नाएहली की वजह से हिंदूओं की मेहनत की कमाई तो डूब ही गई, सैकड़ों लोग सड़कों पर भी आगए हैं और इस की तमाम-तर ज़िम्मेदारी मोदी हुकूमत पर आइद होती है

सचिन सावंत ने कहा कि यस बैंक पर पाबंदी आइद होने की वजह से महाराष्ट्र के109बैंक मुसीबत में आगेए हैं। उनमें विदर्भ के सेंट्रल बैंक समेत कई दीगर कवापरेटीव विकरेडीट सोसायटियों के पैसे भी इसी यस बैंक में जमा थे जिन पर अब ख़तरा मंडलाने लगा है। लेकिन दूसरी जानिब बड़ौदा म्यूनसिंपल कारपोरेशन के बड़ दो वो स्मार्ट डेवलमपंट्् कंपनी के265करोड़ रोपीए इसी यस बैंक में थे, जिन्हें बैंक पर पाबंदी आइद होने से एक दिन क़बल ही निकाल लिया गया। इस से ये एक-बार फिर साबित होता है कि मोदी विशाह कुमलक की नहीं बल्कि सिर्फ़ गुजरात की फ़िक्र है। पिम्परी चंचोड़ म्यूनसिंपल कारपोरेशन में बी जे पी का इक़तिदार है। इस म्यूनसिंपल कारपोरेशन का905करोड़ रुपया भी इसी यस बैंक में है। मोदी विशाह ने अगर बड़ौदा म्यूनसिंपल कारपोरेशन की तरह सिर्फ पिम्परी चंचोड़ म्यूनसिंपल कारपोरेशन के कान में ही उस के बारे में बता दिए होते तो वो इस ख़तरे से बच गया होता। लेकिन गुजरात प्रेम के आगे उन्हें दूसरा कोई नज़र नहीं आता है

♨️Join Our Whatsapp 🪀 Group For Latest News on WhatsApp 🪀 ➡️Click here to Join♨️

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
%d bloggers like this: